B.Tech करने के बाद अमेरिका में लगी नौकरी,नौकरी में मन ना लगने पर नौकरी छोड़ शुरू किया खुद का स्टार्टअप | After doing B.Tech, got a job in America, when he did not like the job, he left the job and started his own startup.

संगमनगरी के २२ वर्षीय युवा ने अमेरिका में लगी नौकरी छोड़ खुद का स्टार्टअप शुरू किया. इस स्टार्टअप का सालाना कारोबार पिछले आठ वर्षों में करोड़ों में पहुँच गया है. लीक से हटकर कारोबार करने पर रिश्तेदारों की नाराजगी भी झेलनी पड़ी लेकिन फिर भी बारा के नवयुवक मनीष शुक्ला ने अपनी काबिलियत से असंभव को संभव कर दिखाया है. बारा के दगवा जारी रहवासी मनीष शुक्ला ने २०१२ में एक Private Engineering College से B.Tech की डिग्री प्राप्त की. पिता रविशंकर ने घर की आर्थिक परिस्थिति ठीक ना होने के कारण ट्रक ड्राइवर बनकर बेटे की पढ़ाई में पैसा लगाया. कॉलेज प्रबंधन की ओर से भी आर्थिक सहयोग किया गया. पढ़ाई कम्पलीट करने के बाद अमेरिका में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में मनीष को नौकरी लग गई. 

तीन साल विदेश में काम करने के बाद भी जब मनीष को आत्म संतुष्टि नहीं मिली तो वह अपनी नौकरी छोड़ प्रयागराज वापस आ गए. प्रयागराज वापस आने के बाद उन्होनें Washing 24 नामक लॉंड्री का स्टार्टअप शुरू किया. बहुत मेहनत कर अपने कारोबार को खड़ा किया और फिर अस्पतालों और शैक्षणिक संस्थाओं के साथ जुड़कर काम शुरू किया. कोरोना के दौरान बड़े प्रमाण में अस्पतालों से जुड़कर काम करने का मौका मिला था. 

हाल ही में मनीष के स्टार्टअप को रेल्वे का भी बड़ा टेंडर मिला है.

५०० लोगों को दिया रोजगार 

प्रयागराज के अलावा भी मनीष ने लखनऊ,कानपुर,मिर्जापुर और वाराणसी में भी शाखाएँ खोली है. प्रयागराज के नैनी भी एक बड़ा प्लांट है. इस स्टार्टअप के माध्यम से प्रयागराज सहित पाँच शहरों में ५०० लोगों को रोजगार का अवसर प्रदान किया है. 

स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम MSME की चेयरमैन डॉ विभा मिश्रा ने बताया है कि,” आठ वर्ष पूर्व जब युवा मनीष मेरे पास आएँ थे तो उनकी आँखों में कुछ कर दिखाने का सपना था. मैनें अपने स्तर के योग्य मदद करने की कोशिश की. आज मनीष को सफलता की ओर बढ़ते हुए देखकर मुझे बहुत खुशी मिलती है.”

Leave a Comment