आइएं जानते है आखिर कब है दिवाली? | Let us know when is Diwali 2023?

दिपावली के पर्व का इंतजार हर किसी को रहता है. हिंदू धर्म में दिवाली को सबसे बड़े त्योहार के रूप में मनाया जाता है. धनतेरस से दिवाली की शुरूआत होती है और भाईदूज तक यह त्योहार रहता है. इस वर्ष यह पावन पर्व नवंबर में मनाया जाएँगा. दिवाली के दिन माँ लक्ष्मी और भगवान गणेश का पूजन किया जाता है. 

आइएं जानते है किन तारिखों को धनतेरस,दिवाली,भाईदूज व गोवर्धन पर्व मनाया जाएँगा.

धनतेरस २०२३

हिंदू मान्यता के अनुसार,कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस का पर्व मनाया जाता है. इस वर्ष धनतेरस १० नवंबर,२०२३ को शुक्रवार के दिन मनाया जाएँगा. 

लक्ष्मीपूजन (दिपावली)

इस वर्ष रविवार १२ नवंबर को लक्ष्मीपूजन(दिपावली) का पर्व मनाया जाएंगा. कार्तिक मास की अमावस्या तिथि पर दिपावली का त्योहार मनाया जाता है.

गोवर्धन पूजा

इस वर्ष मंगलवार १૪ नवंबर को गोवर्धन पूजा है. इस पर्व को कई जगह अन्नकूट के रूप में भी मनाया जाता है.

भाईदूज

इस वर्ष भाईदूज मंगलवार १૪ नवंबर को मनाया जाएँगा.

दिवाली पूजन विधि

१. ईशान कोण या उत्तर दिशा में स्वास्तिक बनाकर उसपर लकड़ी का पाट बिछाकर उसपर लाल कपड़ा बिछाएं. अब इस पाट पर माता लक्ष्मी और गणेशजी की मूर्ति अथवा तस्वीर की स्थापना करे. ध्यान रखे कि गणेशजी के साथ कुबेरजी की भी स्थापना करना चाहिए. 

२. मूर्ति या तस्वीर के सामने धूप-दीप अर्पण करे. सभी मूर्ति और तस्वीरों पर जल का छिड़काव करे उन्हें पवित्र करे. 

३. माता लक्ष्मी और सभी मूर्तियों पर हल्दी,कुमकुम,चंदन और चावल का तिलक करे. अब हार और फूल अर्पण करे. 

૪. पूजा करने के बाद प्रसाद या नैवेद्य का भोग अर्पण करे. ध्यान रखे कि प्रत्येक भोग पर तुलसी का पत्ता अवश्य चढ़ाएँ.

५. भोग अर्पण करने के बाद आरती जरूर करे. 

६. पूजन करने के बाद मुख्य द्वार व घर के सभी कोने में दिप जलाएँ.

Leave a Comment